Mokshada Ekadashi 2023 भगवान की कृपा से, मोक्षदा एकादशी 2023: शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और उपाय

By meenakshitechnologies65

Published on:

Mokshada Ekadashi 2023

Mokshada Ekadashi 2023 DATE Fri, 22 Dec, 2023

Mokshada Ekadashi 2023 आपको स्वागत है!

Mokshada Ekadashi 2023 हम आपको लेकर आए हैं एक नए आरंभ की ताजगी के साथ, इस अनूठे और धार्मिक अवसर “मोक्षदा एकादशी” के अद्वितीय अनुभव की ओर। इस अद्वितीय प्रदोष के मौके पर, हम साझा करेंगे शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, और उपाय, जिनसे आपका यह त्योहार और भी आनंदमय होगा।

मोक्षदा एकादशी: एक माध्यम से दिव्य जागरूकता

मोक्षदा एकादशी का महत्व:

मोक्षदा एकादशी का अर्थ है ‘मोक्ष प्रदान करने वाला एकादशी’। इस दिन विशेष रूप से भगवान विष्णु की पूजा की जाती है जिससे भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

शुभ मुहूर्त:

  • व्रत की शुरुआत: पूर्वाह्न 7:30 से
  • व्रत का समापन: पूर्वाह्न 9:30 से

व्रत विधि और पूजन सामग्री

व्रत विधि:

  1. स्नान करें और शुद्धि बनाएं।
  2. विष्णु जी की मूर्ति या चित्र को सजाकर स्थापित करें।
  3. व्रत कथा सुनें और व्रत आरंभ करें।
  4. भगवान की आराधना के बाद, विशेष भोग बनाएं और उन्हें भगवान को अर्पित करें।

पूजन सामग्री:

  • गंगाजल, रोली, चावल, दीपक, फल, सुपारी, इलायची, गुड़, धूप, दीप, चन्दन, कुमकुम, गौ मूत्र, फूल

विशेष उपाय और सुझाव

  1. तुलसी पूजा:
  • तुलसी की पूजा से घर में पॉजिटिव ऊर्जा बनी रहती है।
  • तुलसी की माला से भगवान का ध्यान करने का अवसर मिलता है।
  1. दान एकादशी:
  • गरीबों को भोजन, वस्त्र, और आवश्यक सामग्रीयां दान करें।

मोक्षदा एकादशी के महत्वपूर्ण उपयोगी उपाय


  A[व्रत आरंभ] --> B[तुलसी पूजा]
  B --> C[भगवान विष्णु जी की पूजा]
  C --> D[दान एकादशी]
  D --> E[व्रत समापन]

इसी रूप में, आप मोक्षदा एकादशी के उत्कृष्ट महत्व को मान्यता प्रदान कर सकते हैं और अपने जीवन को धार्मिक और सत्यमय बना सकते हैं। हमारी कामना है कि आपका यह धार्मिक पर्व धन्यवादपूर्वक और आनं

दपूर्ण हो।

आपके प्रति हमारा शुभकामनाएं!

Also Check :-

meenakshitechnologies65

Related Post

Leave a Comment