मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण, प्रभावकारिता, मूल्य, दुष्प्रभाव, खुराक में अंतर

इस पृष्ठ पर मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण, प्रभावकारिता, मूल्य, दुष्प्रभाव, खुराक अंतर, अनुमोदित देश, परीक्षण विवरण पर चर्चा की गई है। देश इस समय कोरोना महामारी के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या से चिंतित है। अभी तक कोरोना से जीत के लिए कोई ठोस टीका बाजार में नहीं उतारा गया है। वर्तमान में मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण के लिए खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने अनुमति दे दी है।

मॉडर्ना वैक्सीन

फिलहाल इस दवा को भारत में मंजूरी नहीं मिली है। उम्मीद की जा रही है कि सरकार इस दवा की मंजूरी को लेकर जल्द ही कोई फैसला ले सकती है। दवा कंपनी के मुताबिक इस टीके की 2 डोज लेने से आप कोरोना या कोविड 19 से बच सकते हैं। वैक्सीन लेने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए। अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने केवल आपात स्थिति में ही इस दवा के उपयोग को मंजूरी दी है।

मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण
इस टीके को अन्य टीकों की तुलना में अधिक प्रभावी बताया गया है। सरकार की मंजूरी के बाद वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी की जाएगी। अगर आप भी मॉडर्न वैक्सीन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना चाहते हैं तो इसकी जानकारी आपको जल्द ही दी जाएगी। भारत में पंजीकरण प्रक्रिया अभी तक जारी नहीं की गई है। मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी ने अभी तक भारत में दवा की लॉन्चिंग को लेकर सरकार से बातचीत शुरू नहीं की है.

फिलीपींस के लिए मॉडर्न वैक्सीन पंजीकरण जारी किया गया है। इस टीके का सही असर देखने के लिए आपको इस टीके की 2 खुराक लेनी होगी। वैक्सीन के लिए पंजीकरण करने के लिए, आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। रजिस्ट्रेशन के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करके आप मॉडर्न के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

Related Searches:

1) CORONA STATUS

2) CORONA MAP

मॉडर्ना वैक्सीन प्रभावकारिता


मॉडर्ना वैक्सीन पर किए गए शोध के मुताबिक, इस वैक्सीन के आने के बाद से 95% तक मरीजों में इस टीके का असर देखा गया है। मरीजों के शरीर में इंजेक्ट करने के बाद यह दवा 95% कोरोना वायरस को खत्म कर सकती है। शोधकर्ताओं के मुताबिक अगर आपको वैक्सीन की दोनों डोज दी गई हैं तो आपको कोरोना संक्रमण होने की संभावना सिर्फ 5% है। शरीर में प्रवेश करने के बाद यह दवा खून के साथ मिलकर कोरोना वायरस को मार देती है।

इस दवा के प्रभाव को देखने के लिए और यह जांचने के लिए कि यह दवा कितनी योग्य है, आपको इसकी दोनों खुराकों को आजमाना चाहिए। दोनों डोज के बाद ज्यादातर मरीजों में 95 फीसदी तक पॉजिटिव आंकड़े पाए गए। इस दवा का उपयोग करते समय आपको कुछ सावधानियां भी बरतनी पड़ सकती हैं, जिसका उल्लेख नीचे लेख में किया गया है। कंपनी की ओर से दिए गए आंकड़ों के मुताबिक मॉडर्न वैक्सीन की प्रभावकारिता दर लगभग 95% है।

मॉडर्ना वैक्सीन की कीमत
अब यू.एस. में, खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने केवल आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमति दी है। फिलहाल दवा की कीमत के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। भारत में जल्द ही इस दवा को मंजूरी मिल सकती है। भारत में मॉडर्न वैक्सीन की कीमत इंटरनेट पर सर्च की जा रही है। आपको बता दें कि फिलहाल इस दवा की

इस दवा के लिए दी गई मंजूरी में इसके रेट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। अमेरिका में मॉडर्ना वैक्सीन की कीमत जल्द ही घोषित की जाएगी। आप इसके बारे में सभी जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप लेख में दिए गए पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते हैं। अनुमान

मॉडर्ना वैक्सीन साइड इफेक्ट
आप पहली खुराक के कुछ दिनों बाद मॉडर्ना वैक्सीन के साइड इफेक्ट देख सकते हैं। ठंड लगना, सिरदर्द, थकान और वैक्सीन इंजेक्शन के स्थान पर दर्द, त्वचा का लाल होना और सूजन जैसे दुष्प्रभाव देखे गए हैं। वैक्सीन के बाद दिखने वाली मॉडर्ना वैक्सीन साइड इफेक्ट फर्स्ट डे से ही दिखना शुरू हो सकती है। यदि आप दिए गए दुष्प्रभावों के अलावा किसी अन्य दुष्प्रभाव से पीड़ित हैं, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

दिए गए दुष्प्रभावों से छुटकारा पाने के लिए आपको कुछ सामान्य प्रयास करने चाहिए। आपको उस हाथ को हिलाना चाहिए जिसमें आपको इंजेक्शन लगाया गया है, और बहुत सारे तरल पदार्थ पीना चाहिए। दर्द को कम करने के लिए आप ब्रूफिन जैसी दवा का भी सहारा ले सकते हैं। दी गई जानकारी के अनुसार साइड इफेक्ट दिखने पर आपको घबराने की जरूरत नहीं है।

वे देश जहां मॉडर्न वैक्सीन स्वीकृत है


ऑस्ट्रिया बेल्जियम बुल्गारिया
कनाडा क्रोएशिया साइप्रस
चेकिया डेनमार्क एस्टोनिया
फ़रो आइलैंड्स फ़िनलैंड फ़्रांस
जर्मनी ग्रीस ग्रीनलैंड
ग्वाटेमाला होंडुरास हंगरी
आइसलैंड आयरलैंड इज़राइल
इटली लातविया लिकटेंस्टीन
लिथुआनिया लक्जमबर्ग माल्टा
मंगोलिया नीदरलैंड नॉर्वे
फिलीपींस पोलैंड पुर्तगाल
कतर रोमानिया रवांडा
सेशेल्स सिंगापुर स्लोवाकिया
स्लोवेनिया स्पेन स्वीडन
पश्चिमी तट
मॉडर्ना वैक्सीन खुराक अंतर
मॉडर्ना वैक्सीन की खुराक के बीच आपको कम से कम 21 दिनों का अंतर देना होगा। वैक्सीन लगाते समय आप डॉक्टर से इस बारे में पूछ सकते हैं। वैक्सीन की पहली खुराक के कम से कम 3 सप्ताह बाद रोगी को दूसरी खुराक देनी चाहिए। पहली खुराक लेने के बाद आप टीके के कुछ दुष्प्रभावों का अनुभव कर सकते हैं। इन दुष्परिणामों को देखने के बाद आपको अपनी दूसरी खुराक लेने से मना नहीं करना चाहिए।

दोनों डोज होने के बाद ही मरीज को कोरोना से पूरी सुरक्षा मिलेगी

इस पृष्ठ पर मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण, प्रभावकारिता, मूल्य, दुष्प्रभाव, खुराक अंतर, अनुमोदित देश, परीक्षण विवरण पर चर्चा की गई है। देश इस समय कोरोना महामारी के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या से चिंतित है। अभी तक कोरोना से जीत के लिए कोई ठोस टीका बाजार में नहीं उतारा गया है। वर्तमान में मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण के लिए खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने अनुमति दे दी है।

Also check:

मॉडर्ना वैक्सीन

फिलहाल इस दवा को भारत में मंजूरी नहीं मिली है। उम्मीद की जा रही है कि सरकार इस दवा की मंजूरी को लेकर जल्द ही कोई फैसला ले सकती है। दवा कंपनी के मुताबिक इस टीके की 2 डोज लेने से आप कोरोना या कोविड 19 से बच सकते हैं। वैक्सीन लेने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए। अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने केवल आपात स्थिति में ही इस दवा के उपयोग को मंजूरी दी है।

मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण
इस टीके को अन्य टीकों की तुलना में अधिक प्रभावी बताया गया है। सरकार की मंजूरी के बाद वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी की जाएगी। अगर आप भी मॉडर्न वैक्सीन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना चाहते हैं तो इसकी जानकारी आपको जल्द ही दी जाएगी। भारत में पंजीकरण प्रक्रिया अभी तक जारी नहीं की गई है। मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी ने अभी तक भारत में दवा की लॉन्चिंग को लेकर सरकार से बातचीत शुरू नहीं की है.

फिलीपींस के लिए मॉडर्न वैक्सीन पंजीकरण जारी किया गया है। इस टीके का सही असर देखने के लिए आपको इस टीके की 2 खुराक लेनी होगी। वैक्सीन के लिए पंजीकरण करने के लिए, आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। रजिस्ट्रेशन के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करके आप मॉडर्न के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

मॉडर्ना वैक्सीन प्रभावकारिता
मॉडर्ना वैक्सीन पर किए गए शोध के मुताबिक, इस वैक्सीन के आने के बाद से 95% तक मरीजों में इस टीके का असर देखा गया है। मरीजों के शरीर में इंजेक्ट करने के बाद यह दवा 95% कोरोना वायरस को खत्म कर सकती है। शोधकर्ताओं के मुताबिक अगर आपको वैक्सीन की दोनों डोज दी गई हैं तो आपको कोरोना संक्रमण होने की संभावना सिर्फ 5% है। शरीर में प्रवेश करने के बाद यह दवा खून के साथ मिलकर कोरोना वायरस को मार देती है।

इस दवा के प्रभाव को देखने के लिए और यह जांचने के लिए कि यह दवा कितनी योग्य है, आपको इसकी दोनों खुराकों को आजमाना चाहिए। दोनों डोज के बाद ज्यादातर मरीजों में 95 फीसदी तक पॉजिटिव आंकड़े पाए गए। इस दवा का उपयोग करते समय आपको कुछ सावधानियां भी बरतनी पड़ सकती हैं, जिसका उल्लेख नीचे लेख में किया गया है। कंपनी की ओर से दिए गए आंकड़ों के मुताबिक मॉडर्न वैक्सीन की प्रभावकारिता दर लगभग 95% है।

मॉडर्ना वैक्सीन की कीमत
अब यू.एस. में, खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने केवल आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमति दी है। फिलहाल दवा की कीमत के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। भारत में जल्द ही इस दवा को मंजूरी मिल सकती है। भारत में मॉडर्न वैक्सीन की कीमत इंटरनेट पर सर्च की जा रही है। आपको बता दें कि फिलहाल इस दवा की कीमत के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

इस दवा के लिए दी गई मंजूरी में इसके रेट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। अमेरिका में मॉडर्ना वैक्सीन की कीमत जल्द ही घोषित की जाएगी। आप इसके बारे में सभी जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप लेख में दिए गए पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते हैं। अनुमान है कि भारत में इसकी कीमत 800 रुपये हो सकती है।

Also check:

मॉडर्ना वैक्सीन साइड इफेक्ट


आप पहली खुराक के कुछ दिनों बाद मॉडर्ना वैक्सीन के साइड इफेक्ट देख सकते हैं। ठंड लगना, सिरदर्द, थकान और वैक्सीन इंजेक्शन के स्थान पर दर्द, त्वचा का लाल होना और सूजन जैसे दुष्प्रभाव देखे गए हैं। वैक्सीन के बाद दिखने वाली मॉडर्ना वैक्सीन साइड इफेक्ट फर्स्ट डे से ही दिखना शुरू हो सकती है। यदि आप दिए गए दुष्प्रभावों के अलावा किसी अन्य दुष्प्रभाव से पीड़ित हैं, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

दिए गए दुष्प्रभावों से छुटकारा पाने के लिए आपको कुछ सामान्य प्रयास करने चाहिए। आपको उस हाथ को हिलाना चाहिए जिसमें आपको इंजेक्शन लगाया गया है, और बहुत सारे तरल पदार्थ पीना चाहिए। दर्द को कम करने के लिए आप ब्रूफिन जैसी दवा का भी सहारा ले सकते हैं। दी गई जानकारी के अनुसार साइड इफेक्ट दिखने पर आपको घबराने की जरूरत नहीं है।

वे देश जहां मॉडर्न वैक्सीन स्वीकृत है


ऑस्ट्रिया बेल्जियम बुल्गारिया
कनाडा क्रोएशिया साइप्रस
चेकिया डेनमार्क एस्टोनिया
फ़रो आइलैंड्स फ़िनलैंड फ़्रांस
जर्मनी ग्रीस ग्रीनलैंड
ग्वाटेमाला होंडुरास हंगरी
आइसलैंड आयरलैंड इज़राइल
इटली लातविया लिकटेंस्टीन
लिथुआनिया लक्जमबर्ग माल्टा
मंगोलिया नीदरलैंड नॉर्वे
फिलीपींस पोलैंड पुर्तगाल
कतर रोमानिया रवांडा
सेशेल्स सिंगापुर स्लोवाकिया
स्लोवेनिया स्पेन स्वीडन
स्विट्ज़रलैंड यूनाइटेड किंगडम ऑफ़ ग्रेट ब्रिटेन और उत्तरी आयरलैंड यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका
पश्चिमी तट
मॉडर्ना वैक्सीन खुराक अंतर
मॉडर्ना वैक्सीन की खुराक के बीच आपको कम से कम 21 दिनों का अंतर देना होगा। वैक्सीन लगाते समय आप डॉक्टर से इस बारे में पूछ सकते हैं। वैक्सीन की पहली खुराक के कम से कम 3 सप्ताह बाद रोगी को दूसरी खुराक देनी चाहिए। पहली खुराक लेने के बाद आप टीके के कुछ दुष्प्रभावों का अनुभव कर सकते हैं। इन दुष्परिणामों को देखने के बाद आपको अपनी दूसरी खुराक लेने से मना नहीं करना चाहिए।

दोनों डोज होने के बाद ही मरीज को कोरोना से पूरी सुरक्षा मिलेगी

Official Website Click Here

Hmhblog Home Click Here

Body

7 thoughts on “मॉडर्ना वैक्सीन पंजीकरण, प्रभावकारिता, मूल्य, दुष्प्रभाव, खुराक में अंतर”

Comments are closed.